प्रथम मैथिली पाक्षिक ई पत्रिका

विदेह नूतन अंक
वि दे ह विदेह Videha বিদেহ http://www.videha.co.in विदेह प्रथम मैथिली पाक्षिक ई पत्रिका Videha Ist Maithili Fortnightly ejournal विदेह प्रथम मैथिली पाक्षिक ई पत्रिका नव अंक देखबाक लेल पृष्ठ सभकेँ रिफ्रेश कए देखू। Always refresh the pages for viewing new issue of VIDEHA.

 

कुमार मनोज कश्यप

१ टा लघुकथा

परिस्थितिजन्य

सर्वश्रेष्ठ ब्लॉगर के पुरस्कार लऽ  मंच सऽ  उतरिते प्रेसक कैमरा के असंख्य चमक आ  पत्रकार सभ  ' घेरा गेलाह। प्रश्नक झड़ी मे एकटा प्रश्न एलै - 'आहाँ ब्लॉग लिखबा लेल कोना प्रेरित भेलहुँ?' किछु पल गुम्म रहि भहरल स्वरें बाजब प्रारम्भ केलनि - 'सत्य पूछी .... तऽ हमर परिस्थिति .... मजबूर कऽ कऽ .... धकेलि देलक हमरा एहि दिस।  हमर जीवन-संगिनी ...... जीवन भरि हमर संग नहिं दऽ .... बिच्चे मे  .... असगर छोड़ि  चलि  गेलीह। बेटा-बेटी के .... अपन-अपन परिवार; अपन-अपन दुनियाँ! .... जेनेरेशन गैप से फराके...... आ स्वभाविको! हमर के सुनय? सेवा-निवृतिक पछाति .... हमर संपूर्ण दुनियाँ मे रहि गेल एकमात्र भरथा! .... ओहो नहिं जानि पूर्व जन्मक हमर ऋणी छल वा की....... से नहिं कहि! वैह हमर मित्र, हमर सेवक, हमर सहच र....... जे बुझी .......सभ किछु! ओ भानस  बनबैयै .... आ तैं हम  खाईत छी।  कान सऽ ओ ऊँच सुनैयै .... तैँ  ओकरा संग गप्प कईये ने सकैत छी। तैं ....... दिन कटबा लेल ब्लॉग अनमेना बनल.........!

गहींर निसाँस छोड़ि  शून्य मे ओ किछु ताकय लगलाह।

आब प्रश्न आ उत्तर दुहू बौक  छल।

 

-कुमार मनोज कश्यप, सम्प्रति: भारत सरकार के उप-सचिव, संपर्क: सी-11, टावर-4, टाइप-5, किदवई नगर पूर्व (दिल्ली हाट के सामने), नई दिल्ली-110023 मो. 9810811850 / 8178216239 ई-मेल : writetokmanoj@gmail.com

 

अपन मंतव्य editorial.staff.videha@gmail.com पर पठाउ।