‘ 
logo logo  

वि दे ह 

पथम मैथिली पाक्षिक ई पत्रिका

मानुषीमिह संस्कृताम्

ISSN 2229-547X VIDEHA

विदेह नूतन अंक पद्य    

विदेह

मैथिली साहित्य आन्दोलन

Home ]

विदेह नूतन अंक पद्य १

India Flag Nepal Flag

(c)2004-2018.सर्वाधिकार लेखकाधीन आ जतय लेखकक नाम नहि अछि ततय संपादकाधीन।

 

 वि  दे   विदेह Videha বিদেহ http://www.videha.co.in  विदेह पथम मैथिली पाक्षिक ई पत्रिका Videha Ist Maithili Fortnightly e Magazine  विदेह पथम मैथिली पाक्षिक ई पत्रिका नव अंक देखबाक लेल पृष्ठ सभकेँ रिफ्रेश कए देखू।

 

आशीष अनचिन्हार

दू टा गजल

1

मोन पड़लै
नोर खसलै

 

अर्थ दिव्यांग

शब्द टहलै

 

बात बजिते

जीह कटलै


देह छुबिते

देह गललै

 

लोक अप्पन

आन लगलै

सभ पाँतिमे 2122 मात्राक्रम अछि। दोसर शेरक पहिल पाँतिक अंतिम लघु छूटक तौरपर लेल गेल अछि।

2

एकै आदमी चोर फकीरक सरदार

बड़ हरीफ लागैए शरीफक सरदार

 

बाहर टूटल फूटल भीतर चकमक छै

बड़ अमीर लागैए गरीबक सरदार

 

एना पसरल हेतै गुप्त बात सौंसे

कनपातर लागैए बहीरक सरदार

 

मोती केर आसमे गहलहुँ धार मुदा

बड़ उत्थर लागैए गँहीरक सरदार

 

रहि जेतै ई आसन बासन सिंहासन

आ चुप्पे उड़ि जेतै शरीरक सरदार

सभ पाँतिमे 222-222-222-22 मात्राक्रम अछि। दू टा अलग अलग लघुकेँ दीर्घ मानल गेल अछि

 

ऐ रचनापर अपन मंतव्य editorial.staff.videha@gmail.com पर पठाउ।