logo logo  

वि दे ह 

प्रथम मैथिली पाक्षिक ई पत्रिका

मानुषीमिह संस्कृताम्

ISSN 2229-547X VIDEHA

विदेह नूतन अंक पद्य  

विदेह

मैथिली साहित्य आन्दोलन

Home ]

India Flag Nepal Flag

(c)२००४-१७. सर्वाधिकार लेखकाधीन आ जतय लेखकक नाम नहि अछि ततय संपादकाधीन।

 

 वि  दे   विदेह Videha বিদেহ http://www.videha.co.in  विदेह प्रथम मैथिली पाक्षिक ई पत्रिका Videha Ist Maithili Fortnightly e Magazine  विदेह प्रथम मैथिली पाक्षिक ई पत्रिका नव अंक देखबाक लेल पृष्ठ सभकेँ रिफ्रेश कए देखू।

 

१.प्रदीप पुष्प- वैलेंटाइन स्पेशल...गजल सहित २टा गजल २. आशीष अनचिन्हार- ३टा गजल

प्रदीप पुष्प
वैलेंटाइन स्पेशल...
गजल

पीआरक सीजन हिट भ' गेल
पागो धोतीमे फिट भ' गेल

बहलै सगरो लवमय बसात
देसी कलचर एक्जिट भ' गेल

छौंड़ा छौंड़ी बनलै भजार
जे नइ सेहो परमिट भ' गेल

नबका नबका गिफ्टक लगान
टाका टोटल डेबिट भ' गेल

पीयो फेंको भेलै पिरीत
बिजनिस अजुका डिफनिट भ' गेल
(२२२२२२१२१ सब पाँतिमे|
 

के की कहलक की कहू
के की ठकलक की कहू

हमरो उजरे रंग छ'ल
के की दगलक की कहू

भेलै साधू आब सब
के की चिखलक की कहू

माया बड़का पैघ ई
के की रचलक की कहू

अखनो नै छी पास हम
के की जँचलक की कहू
 (२२२२२१२ सब पाँतिमे

 

आशीष अनचिन्हार

३ टा गजल

1


 

मंच माला आ गर्जना भेटत

घोषणा छुच्छे घोषणा भेटत


 

मेहनति हेड़ा ने सकत कत्तौ

साध्य बनि गेने साधना भेटत


 

प्रेम छै देहक नेह छै मोनक

वासना केने वासना भेटत


 

रीत छै सभहँक एहने एहन

मान केने अवमानना भेटत


 

जज बनल अनचिन्हार लग खाली

एहने सन संभावना भेटत


 

सभ पाँतिमे 212+22+212+22 मात्राक्रम अछि


 

2


 

सरकार केकरो नै

दरबार केकरो नै


 

बकलेल जान दैए

बुधियार केकरो नै


 

जे बेचि देत एहन

अधिकार केकरो नै


 

जयकार छै छिनार

जयकार केकरो नै


 

हटले रहू बहुत दूर

चिन्हार केकरो नै


 

 

सभ पाँतिमे 2212+122 मात्राक्रम अछि

तेसर शेरक पहिल पाँतिक अंतिम लघुकेँ संस्कृत परंपरानुसार दीर्घ मानल गेल अछि

चारिम शेरक पहिल पाँतिक अंतिम लघुकेँ छूटक तौरपर लेल गेल अछि


 

3


 

नेह लगाबैए कियो कियो

भाग बनाबैए कियो कियो


 

आँखि बला भेटल बहुत मुदा

नोर लुटाबैए कियो कियो


 

आब तँ छै बेपार चोट केर

दर्द नुकाबैए कियो कियो


 

बात सुनाबैए सगर नगर

बात बुझाबैए कियो कियो


 

देह छुआबै आदमी बहुत

मोन छुआबैए कियो कियो


 

सभ पाँतिमे 21-1222-12-12 मात्राक्रम अछि

तेसर शेरक पहिल पाँतिक अंतिम लघु छूटक तौरपर अछि

 

ऐ रचनापर अपन मंतव्य ggajendra@videha.com पर पठाउ।