logo logo  

वि दे ह 

प्रथम मैथिली पाक्षिक ई पत्रिका

मानुषीमिह संस्कृताम्

ISSN 2229-547X VIDEHA

विदेह नूतन अंक पद्य  

विदेह

मैथिली साहित्य आन्दोलन

Home ]

India Flag Nepal Flag

(c)2004-2018. सर्वाधिकार लेखकाधीन आ जतय लेखकक नाम नहि अछि ततय संपादकाधीन।

 

 वि  दे   विदेह Videha বিদেহ http://www.videha.co.in  विदेह प्रथम मैथिली पाक्षिक ई पत्रिका Videha Ist Maithili Fortnightly e Magazine  विदेह प्रथम मैथिली पाक्षिक ई पत्रिका नव अंक देखबाक लेल पृष्ठ सभकेँ रिफ्रेश कए देखू।

 

संतोष कुमार राय 'बटोही'

दू टा कविता

2

किसानी

पानि बिनु खेत सुखल
नहरक पानि चोरनुकबा भएल
खेत मे बिबाय फाटल
किसानी भएल कठिन.

फसलक उचित दाम नहि भेटैत अछि,
खादक कोनहु बेेवस्था नहि
अन्न घर मे सड़ि रहल अछि
सरकारक कान बहिर भएल.

के हरवाही करत आब?
के उपजाउत अन्न
देशक अराजकता बीच
किसानी भएल कठिन

2

बिन ब्याहले रहति सिय


बड़ि दुःख होएत अछि पढ़ि क' इ ख़बर,

कि दहेज केँ लेल फलाँ केँ हत्या भ गेलै,

बहिन-बेटी केर कोनहु मोल नहि अइ समाज मे,

टाका सँ बढ़ि क' किछु नहि बुझना जैत अछि।

 

सिया केँ भूमि बहिन-बेटीक खून सँ रंगा रहल अछि,

मौगा बनि क' घूमि रहल छथि निमोछिया सभ,

पुरुख नहि रहलाह मिथिला मे आब कियो,

सभ कियो माटिक मूरती बनि गेल छथि।

 

एहेन सुन्नर बुच्ची केँ ब्याह नहि करू आब कियो,

बिन ब्याहले रहति सिया जग राम बिनु विहीन भेल,

भूतहा भेल गामक-गाम,

बौरा गेल छै मरद सभ।

 

बाप रौ बाप इ की भेलै सभ कियो केँ,

आँखि किएक नहि आनहर भेलन्हि हुनकर,

जिनका हिया मे दोसरक बेटी लेल दरद नहि छन्हि,

ओ मनुख नहि राक्षस छथि।

 

परिचय-संतोष कुमार राय 'बटोही'

एम.ए.हिन्दी(JAMIA MILLIA ISLAMIA,New Delhi),UGC-Net qualified

दू टा विश्वविद्यालयी पत्रिका क  संपादन,अन्यान्य पत्रिका मे रचना प्रकाशित, शोधरत।

ग्राम-मंगरौना, थाना-अंधराठाढी, अनुमंडल-झंझारपुर, जिला-मधुबनी, बिहार-847401

ऐ रचनापर अपन मंतव्य editorial.staff.videha@gmail.com पर पठाउ।